बैंक पीओ से जुडी पूरी महत्वपूर्ण जानकारी

बैंकिंग सेक्टर दुनिया का सबसे तेजी से विकसित होने वाला सेक्टर है. यह भारत की इकॉनमी में भी योगदान देता है।  अगर आपको बैंक पीओ बनना हैं। तो आज हम आपको  बैंक पीओ से जुडी पूरी महत्वपूर्ण जानकारी देंगे। 
  1. Bank PO क्या होता है। 
  2. Bank PO बनने  लिए क्या करे। 
  3. बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर  बनने के लिए क्या क्वालिफिकेशन होनी चाहिए। 
  4. Age लिमिट क्या होनी चाहिए।
  5.   Exam फॉर्म भरने के लिए कितने Percentege  होना चाहिए। 
  6. आप फॉर्म कब भर सकते है। 
  7. एग्जाम के स्टेज कितने होते  है।  
  8. बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर के लिए Syllabus क्या होता है। 
  9. इसमें सैलरी कितनी मिलती है। 
  10. बैंक पीओ की तैयारी कैसे की जाए। 

बैंक PO क्या होता हैै, इसका work क्या होता है 

सबसे पहले हम आपको बता दे की बैंक PO का फुल फॉर्म प्रोबेशनरी अफसर होता है। बैंक पीओ को सामान्य  पर असिस्टेंट बैंक मैनेजर भी कहते है जिसका काम  दैनिक जीवन में ग्राहक से बातचीत, लेनदेन, चेक पास करना, CASH मनेजमेंट, लोन प्रोवाइड करना , इत्यादि कार्य होता है।  

बैंक पीओ बनने के लिए क्या करे?

बैंक पीओ बनने के लिए सबसे पहले आपको IBPS का फॉर्म अप्लाई करना होता है।  ibps का फुल फॉर्म इंस्टिट्यूट ऑफ़ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन होता है।  इसका कार्य सभी बैंको का एग्जाम एक साथ लेना होता है।  IBPS साल में चार एग्जाम करवाता है.

जिसमे बैंक क्लर्क , बैंक पीओ , RRB अफसर , RRB Assistant officer. बैंक पीओ  बनने के लिए आपके पास दो ऑप्शन है।   IBPS के द्वारा। दूसरा sbi के द्वारा, दोनों में ही वेकन्सी अलग अलग निकलती है। 

ibps साल में एक बार पीओ का एग्जाम लेता है। तो आपका इसके द्वारा फॉर्म के लिए अप्लाई करना होगा. 

बैंक पीओ के लिए क्वॉलिफिकेशन 

बैंक पीओ बनने के लिए आपका ग्रेजुएशन होना नेसेसरी है। किसी भी यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पास किया हो।उसको भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होना अनिवार्य है। फॉर्म अप्लाई करने के लिए आपका किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन कम्पलीट होना चाहिए। 

यदि आप साइंस, कॉमर्स, आर्ट्स किसी भी सब्जेक्ट से ग्रेजुएट है। तो आप बैंक पीओ का फॉर्म भरने के लिए योग्य है। बैंक पीओ बनने के लिए कंप्यूटर का नॉलेज होना आवश्यक है। इसका सारा कार्य कंप्यूटर पर करना होता है। इसलिए कंप्यूटर का कम्पलीट नॉलेज होना चाहिए। तभी आप स्मूथली कार्य कर पाएंगे। 

ऐज लिमिट क्या है 

 यदि  बैंक पीओ के लिए हम उम्र सीमा की बात करे, तो मिनिमम 20 और मैक्सिमम 30 साल। इसके अलावा रिज़र्व कैटेगरी के लिए एक्स्ट्रा छूट गई हैं जिसमे :-

  • OBC को ३ साल की छूट दी गई हैं। 
  • SC /ST  को 5 साल की छूट दी गई हैं 
  • PWD को 10 साल की छूट हैं। 
  • एक्स सर्विस मन को 5 साल की छूट दी गई हैं 


फॉर्म भरने के लिए कितना परसेंट चाहिए 

बैंक PO का फॉर्म भरने के लिए आपके पास सिर्फ ग्रेडुएशन डिग्री होना चाहिए। चाहे आप 60 परसेंट हो या 45 पर्सेंट हो. आप बैंक PO के लिए अप्लाई कर सकते हैं। यहाँ पर आपको जरासा भी कंफ्यूज होने की आवश्यक्ता नहीं हैं. 

फॉर्म कब भर सकते हैं 

दोस्तों IBPS हर साल बैंक पीओ को वेकन्सी निकलता है। अगस्त, मई में ऑनलाइन वेकन्सी निकलती है। अक्टूबर तक फॉर्म अप्लाई कर देना होता है। 24 दिन का समय मिलता है। आपको ऑनलाइन फॉर्म अप्लाई के लिए।    

बैंक पीओ एग्जाम के कितने स्टेज होते हैं

दोस्तों बैंक पीओ एग्जाम के तीन स्टेज होते हैं

  • प्रीलिम्स एग्जाम
  • एम्स एग्जाम
  • इंटरव्यू

प्रीलिम्स एग्जाम में आपको एक सिक्योर मार्क्स लाने होते हैं। तभी आप मैंस एग्जाम में बैठ पाते हैं। ध्यान रहे दोनों एग्जाम ऑनलाइन मोड पर होते हैं। दोनों एग्जाम के बाद इंटरव्यू आता है। बैंक क्लर्क में इंटरव्यू नहीं होता। लेकिन बैंक पीओ के एग्जाम में इंटरव्यू होता है। और इससे क्लियर करना जरूरी होता है. तभी आप बैंक पीओ के लिए सिलेक्ट हो पाएंगे।

इसका सिलेबस क्या है

एग्जाम पास करने के लिए आपको पूरा सिलेबस आपको पता होना चाहिए।  बैंक पीओ का एग्जाम 3 स्टेज में होता है। प्रीलिम्स एक्जाम, मैंस एग्जाम और इंटरव्यू। PRELIMS Exam और मेंस एग्जाम का सिलेबस अलग-अलग होता है। एवं कुछ समानताएं भी होती  है। पहले हम प्रीलिम्स Exam सिलेबस के बारे में जानेंगे :-

१. प्रीलिम्स एक्जाम :- इसमें तीन सब्जेक्ट के सवाल पूछे जाते हैं जोकि 100 मार्क्स के प्रश्न होते हैं। इन्हें करने के लिए आपको 1 घंटे का समय दिया जाता है।

  1. English :- English से 30 क्वेश्चन दिए जाते हैं जो कि 30 नंबर के होते हैं जिनको करने के लिए 20 मिनट का समय दिया जाता है
  2. Mathematics :- मैथमेटिक्स से आपको 35 क्वेश्चन दिए जाते हैं। जो कि 35 नंबर के प्रश्न होते हैं। जिन्हें हल करने के लिए आपको 20 मिनट का समय दिया जाता है.
  3. Reasoning :- रीजनिंग से आपको 35 नंबर के 35 प्रश्न दिए जाते हैं। समय 20 मिनट का दिया जाता है। 
यदि आप प्रीलिम्स एग्जाम पास कर लेते हैं। तो कुछ ही दिनों में आपको मैंस एग्जाम देने होती है। 

2.  Mains exam :- इस एग्जाम में 4 विषय से प्रश्न पूछे जाते हैं। जिसमें प्रश्न 155 होते हैं। जिनको करने के लिए आपके पास 3 घंटे का समय होता है। और यह प्रश्न 200 नंबर के होते हैं।

  • Reasoning and computer aptitude से 45 क्वेश्चन दिए जाते हैं जो कि 60 नंबर के होते हैं जिनको 60 मिनट में करना होता है
  • General \ economic \ banking awareness से 40 क्वेश्चन आपको दिए जाते हैं. 40 मार्क्स के प्रश्न होते हैं। एवं  जिनको करने के लिए 35 मिनट का टाइम मिलता है।
  •  English language से 35 क्वेश्चन 40 नंबर के दिए जाते हैं। जिन्हें 40 मिनट में पूरा करना आवश्यक है। 
  • Data analysis and interpretation से 35 प्रश्न दिए जाते हैं। जो कि 60 नंबर के होते हैं एवं जिनको करने के लिए 45 मिनट दिए जाते हैं। 
इसके बाद रिटन टेस्ट होता है इस टेस्ट में आपको निबंध एवं लेटर लिखना होता है। यह टेस्ट आपको टाइप करके देना होता है। इसे आपको इंग्लिश में टाइप करना होता है। आप इसे हिंदी में टाइप नहीं कर सकते। इस टेस्ट के लिए आपको 30 मिनट का समय दिया जाता है। रिटन टेस्ट क्वालिटी पेपर है। इससे मेरिट लिस्ट नहीं बनाता। सिर्फ मेंस के चारों पेपर से ही मेरिट लिस्ट बनता है।

३. Interview :- इंटरव्यू 100 नंबर का होता है। जिसमें जनरल कैंडिडेट को मिनिमम 40 परसेंट मार्क्स लाने पड़ते हैं। ओबीसी, एसटी, एससी कैंडिडेट को मिनिमम पर 35% मार्क्स लाने होते हैं। 

एग्जाम कौन सी लैंग्वेज में होती है

एग्जाम आप हिंदी इंग्लिश किसी भी भाषा में दे सकते हैं। यह आपकी चॉइस है। कि आप किस लैंग्वेज में एग्जाम देना चाहते हैं। 

 बैंक पीओ में सैलरी कितनी मिलती है

एक बैंक पीओ की सैलरी सभी बैंक में अलग-अलग होती है। बेसिक की बात की जाए 23700 प्रति माह मिलती है। इसके साथ आपको विशेष भत्ता, महंगाई भत्ता, एचआरए एवं चिकित्सा भत्ता भी मिलता है। इस प्रकार कुल मिलाकर प्रति माह सैलेरी 38700 रूप से लेकर 42000 तक बन जाती है। जो कि bank-to-bank एवं पोस्टिंग के आधार पर निर्भर करता है।

 इसके लिए तैयारी कैसे करें

दोस्तों आपको सबसे पहले सिलेबस को पूरी तरह समझना पड़ेगा। एवं सब्जेक्ट वाइज preparation करना होगा। किसी भी एग्जाम की तैयारी के लिए प्लान बनाना पड़ता है। उसी प्रकार सभी विषय का टाइम टेबल बनाकर तैयारी करनी होगी। 
आप जिस सब्जेक्ट में वीक है। उस सब्जेक्ट में अत्यधिक ध्यान देना होगा। आपको previous year के क्वेश्चन सॉल्व करने होंगे। एवं साथ ही 1 से 2 सेट  सॉल्व पेपर करने होंगे। तभी आप एग्जाम करेक करके बैंक पीओ बन सकते हैं।

इस पोस्ट में आपको बैंक पीओ कैसे बने, बैंक पीओ का काम क्या होता है, बैंक पीओ के बारे में जानकारी दी है। यदि आपको हमारी पोस्ट महत्वपूर्ण लगी। तो कमेंट में Yes टाइप करें। आपके मित्रों एवं रिश्तेदारों के साथ भी साझा करें । धन्यवाद।

Natish kumawat

दोस्तों मेरा नाम Natish Kumawat है मैं Kumawat Tutor Website का founder हूं। हमारा इस ब्लॉग को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषा के लोगो को महत्वपूर्ण जानकारी provide करवाना है। आपको यहाँ पर शिक्षा, तकनीकी, कंप्यूटर से जुडी हर तरह की जानकारी अपनी मातृ भाषा HINDI में मिलने वाली है।

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने