राजस्थान की प्रमुख झीलों की List Rajasthan Gk

राजस्थान की प्रमुख झीलों के नाम


वर्तमान में दुनिया लोग प्राकृतिक सौंदर्य को तो भूल ही गए हैं प्राकृतिक सौंदर्य की बात करें तो राजस्थान की झीले भी कम नहीं है। लेकिन हम राजस्थान की झीले के प्राकृतिक सौंदर्य की बात नहीं करेंगे. हम आपको आज राजस्थान के झीलों के नाम बताएंगे. जोकि आपका राजस्थान सामान्य ज्ञान भी बढ़ाएगा और साथ ही सरकारी और गैर सरकारी एग्जाम में आने वाले प्रश्न का जवाब आसानी से दे पाएंगे..

राजस्थान की प्रमुख झीलों के नाम


प्रश्न का जवाब देने के लिए आपको सबसे पहले राजस्थानी झीलों की जानकारी प्राप्त करने होगी. राजस्थान में   दो प्रकार की झीले पाई जाती है। खारे पानी की झीले और मीठे पानी की झीले। राजस्थान के पश्चिमी भाग में अधिकतर खारी पानी कि झीले पाई जाती है। तथा पूर्वी भाग में मीठे पानी की झीले पाई जाती है। खारे पानी की झीलों मैं नमक बनाया जाता है। मीठे पानी की झीलों के द्वारा पीने एंव सिंचाई के काम में आपूर्ति प्रदान करती है.

भारत में सबसे ज्यादा झील राजस्थान राज्य में है। लेकिन इन झीलों का दबदबा राजस्थान में होते पानी की कमी के कारण कम होता जा रहा है। हालांकि कुछ झीलें ऐसे भी है जिसमें पानी की आपूर्ति भरपूर है।

विषय सूचि 
  • झील क्या होती है what is lake in hindi
  • तालाब और झील में अंतर
  • राजस्थान की प्रमुख झीलों के नाम
  • राजस्थान की मीठे पानी की झीले
  • राजस्थान की खारे पानी की झीले

झील क्या होती है What is Lake In Hindi

पानी का स्थाई हिस्सा जो चारों ओर से जमीन से घिरा हो उसे झील कहते हैं झील का पानी कभी बहता नहीं यह स्थिर रहता है झील नदी के जैसे कभी समुंदर का हिस्सा नहीं बनती, क्योंकि स्थिर होने के कारण कभी समुद्र तक पहुंची ही नहीं पाती।  झीले बनती है और विकसित होती है. पानी खत्म होने के साथ-साथ यह दलदल में परिवर्तन हो जाती है और कुछ समय बाद यह जमीन का रूप धारण कर लेती है.

तालाब और झील में अंतर

तालाब झील से छोटे होते हैं। हालांकि तालाब झील को नापने  के लिए कोई औपचारिक मापदंड नहीं है। झील में पेड़ पौधे नहीं होते जबकि तालाब में आसानी से पेड़ पौधे उग जाते हैं। तालाब का तापमान स्थिर रहता है। जबकि झील में तापमान सतह  के अनुसार बदलता जाता है। अर्थात ऊपरी सतह गरम, निचली सतह ठंडी।

राजस्थान की प्रमुख झीलों के नाम

राजस्थान की प्रमुख झीलों के नाम

जैसे मैंने आपको ऊपर बताएं राजस्थान में मिट्टी और खारे पानी की दोनों प्रकार की झीले पाई जाती है हम आपको सबसे पहले राजस्थान की मीठे पानी की झीलों के नाम बताएंगे और साथ में थोड़ी बहुत जानकारी भी अवश्य देंगे।

राजस्थान की मीठे पानी की झीले

  1. राजसमन्द झील
  2. पिछोला झील
  3. आना सागर झील
  4. सिलीसेढ़ झील
  5. नक्की झील
  6. फतेहसागर झील
  7. पुष्कर झील
  8. फॉयसागर झील
  9. रंगसागर झील
  10. बालसमंद झील
  11. स्वरूप सागर झील
  12. गजनेर झील
  13. कोलायत झील
  14. दूगारी झील
  15. तलवाड़ा झील
  16. बुद्धा जोहड़ झील
  17. काडिला एवं मानसरोवर झील
  18. पीथमपुरी झील
  19. घड़सीसर झील
  20. बीसलसर झील
  21. बड़ी झील

जयसमंद झील

जयसमंद झील राजस्थान की सबसे बड़ी झील है तहसील राजस्थान के उदयपुर जिले में है इस झील का निर्माण महाराणा जयसिंह ने गोमती नदी का पानी रोक कर 1687-91 में झील का निर्माण करवाया। इस झील को ढेबर के नाम से भी जाना जाता है। इस झील से श्याम नहर और भट्ठा नहर भी निकलती है.

राजसमंद झील

यह झील भी उदयपुर में स्थित है झील का निर्माण मेवाड़ के राजा महाराणा राज सिंह ने करवाया था. इस जेल को गोमती नदी का पानी रोक कर 1662 से 1676 मैं निर्माण करवाया था। झील में 25 संगमरमर के पत्थर भी लगे हैं. जिन पर मेवाड़ के इतिहास का वर्णन हुआ है.

नक्की झील

यह झील राजस्थान के सिरोही जिले में स्थित माउंट आबू पहाड़ में बसी है जिसका निर्माण किसने करवाया नहीं बल्कि ज्वालामुखी के विस्फोटक से हुआ. यह राजस्थान की सबसे गहरी झील है इस झील को प्राकृतिक जेल भी कहा जाता है एक टप्पू के ऊपर रघुनाथ जी का मंदिर स्थित है

पिछोला झील

पिछोला झील उदयपुर मैं स्थित है  पिच्छू बंजारे ने अपने बेल की याद में पिछोला झील का निर्माण करवाया। इस झील का 14 सदी के दौरान निर्माण करवाया था। इस झील के समीप गलकी नटणी का चबुतरा बना हुआ है

पुष्कर झील

राजस्थान के अजमेर जिले से 12 किलोमीटर दूर स्थित है इस झील को राजस्थान की सबसे पवित्र झील माना जाता है। यह झील भी प्राकृतिक झील है इस झील का निर्माण भी नक्की झील के जैसे ज्वालामुखी विस्फोटक से हुआ है धार्मिक मान्यता के अनुसार इस झील का निर्माण  ब्रह्मा जी के हाथ से तीन कमल के फूल गिरने से हुआ।

आना सागर झील

आनासागर झील अजमेर में स्थित है आनासागर झील का निर्माण अर्णाेराज ने 1137 में करवाया था. झील के पास मुगल शासक जहांगीर ने दौलत बाग और चश्मा ए नूर झरने का निर्माण करवाया था।  वर्तमान में दौलत बाग का नाम बदल कर  सुभाष बाग कर दिया गया है. आनासागर झील पहाड़ियों के बीच में होने के कारण प्राकृतिक सौंदर्य अधिक हो गया है.

कायलाना झील

कायलाना झील राजस्थान के जोधपुर जिले के पूर्व में निवास करती है। इस झील को प्रताप सिंह के द्वारा 1872 में बनाया गया था। यह झील 84km में विस्तृत हैं यह बनावटी झील है। 

बालसमंद झील 

यह झील जोधपुर में स्थित है। यह राजस्थान का एक पर्यटक स्थल बन चुकी है जिसको  बहुत लोग देखने आते हैं. 

राजस्थान की प्रमुख झीलों के नाम


राजस्थान की खार पानी की झीले

सांभर झील

सांभर झील राजस्थान की सबसे बड़ी खारे पानी की झील है. यह लगभग 90 वर्ग मील में फैली है यह समुंदर से 1200 फीट की ऊंचाई पर होने के बाद भी है. साल भर भरी रहती है. इसमें बारीश में  4 नदियों का पानी आ कर गिरता है। इसका निर्माण चौहानो ने करवाया था. लेकिन यह कहीं उल्लेख नहीं है। भारत का 8.9 प्रतिशत नमक इस झील से उत्पादन किया जाता है। इसे राजस्थान की साल्टलेक भी कहते है.

लुणकनसर झील

यह झील बीकानेर में स्थित है. कैंसिल इतनी छोटी है. कि इसमें से निकलने वाला नमक स्थानीय लोगों को भी आपूर्ति नहीं कर पाता यह झील 6 वर्ग किलोमीटर में फैली है.

डीडवाना झील

डीडवाना झील नागौर जिले में बसी हुई है. मोहन जी लगभग 4 किलोमीटर में एरिया कवर करती है. इस झील से निकलने वाला नमक खाने योग्य नहीं है. इसीलिए विभिन्न उत्पादन कार्य में प्रयोग किया जाता है. इस झील से सोडियम सल्फेट प्राप्त होता है.

पंचभद्रा

पञ्च भद्रा झील राजस्थान के बाड़मेर जिले में है लगभग 10 किलोमीटर में फैली हुई है इस झील से निकलने वाला नमक उच्च क्वालिटी का है झील में आसपास के 400 परिवार नमक निकालने का काम करते हैं

खारे पानी की अन्य झीले

कावोद झील – जैसलमेर

डेगाना झील – नागौर

रेवासा झील – सीकर

कोछोर झील – सीकर

फलौदी झील – जोधपुर

तो आज हमने इस  पोस्ट में लगभग राजस्थान की प्रमुख झीलों के बारे  जानकारी प्राप्त  की  है अगर आपको  में कुछ कमी नजर टी है तो हमें कमेंट के द्वारा जरूर बताइये। 

अगर आपको राजस्थान की प्रमुख झीलों की List Rajasthan Gk अच्छी लगी तो शेयर  भूले। 

Natish kumawat
दोस्तों मेरा नाम Natish Kumawat है मैं Kumawat Tutor Website का founder हूं। हमारा इस ब्लॉग को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषा के लोगो को महत्वपूर्ण जानकारी प्रधान करवाना है। आपको यहाँ पर शिक्षा, तकनीकी, कंप्यूटर से जुडी हर तरह की जानकारी अपनी मातृ भाषा HINDI में मिलने वाली है।

एक टिप्पणी भेजें

Subscribe Our Newsletter