बी.कॉम क्या होता है पूरी जानकारी हिंदी में B.com


दुनिया की एक अजीब सी दौड़ है। इस दौड़ में हर कोई हिस्सा लेना चाहता है। और हिस्सा लेकर इस दौड़ को जीतना भी चाहता है। लेकिन इस दौड़ को बहुत ही कम लोग जीत पाते हैं। लेकिन हिस्सा सब लेते है। इस दौड़ मैं हिस्सा लेने के लिए बहुत सी जानकारी का होना जरूरी है।

तो आज हम यह जानकारी देंगे की बीकॉम क्या है, B.com कैसे करें, बी कॉम की फुल फॉर्म क्या है(What is B.com information in hindi), (How To Do B.com Full Details In Hindi) हर साल बीकॉम में 19 लाख से ज्यादा स्टूडेंट एडमिशन लेते हैं । और यह संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। क्योंकि बिजनेस का इतना चलन है। कि हर कोई बिजनेस करना चाहता है। और कॉमर्स में एडमिशन लेने के बाद में तो बिजनेस से प्यार की हो जाता है। तो चलते हैं बी कॉम की जानकारी की ओर

  • बी.कॉम क्या होता है (what is b.com course information in hindi)
  • बीकॉम फुल फॉर्म क्या है
  • B com की फीस कितनी होती है
  • B.com All Subjects Name In Hindi
  •  बीकॉम कैसे करें (how to do b. com)
  • बीकॉम बाद जॉब 
  •  बीकॉम के लिए क्या  एलिजिबिल्टी होनी चाहिये (what is eligibility for b com)


बी.कॉम क्या होता है (what is b.com course information in hindi)

बीकॉम जिस का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ कॉमर्स होता है। यह एक ग्रेजुएट डिग्री है। जो कि 3 साल की होती है। इस कोर्स में अकाउंट के काम के बारे में नॉलेज दी जाती है। लेखांकन के सभी कार्यों को सिखाया जाता है। अकाउंट के काम के साथ-साथ ही बिजनेस से रिलेटेड कामों के बारे में भी ज्ञान दिया जाता है। जैसे कि बिजनेस कैसे करना है, किस प्रकार करना है, और कहां करना है, और कब करना है, आदि के बारे में बीकॉम के अंदर पूरी जानकारी दी जाती है।  और इन दोनों काम के साथ पर्सनैलिटी और कम्युनिकेशन स्किल पर भी ध्यान दिया जाता है। बिजनेस और अकाउंट के साथ है। दोनों ही बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। यह सब  बीकॉम कोर्स के अंदर सिखाया जाता है।


बीकॉम फुल फॉर्म क्या है ( b.com full form kya h )

  • बीकॉम जिसका फुल फॉर्म bachelor of commerce होता है। 
  • जो कि 12 वी कक्षा के बाद 3 साल की डिग्री है और इसमें 6 सेमेस्टर होते हैं।

सरकारी शिक्षक कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में। Salary, yogyta, age limit

MBA कोर्स क्या हैं।  पूरी जानकारी हिंदी में। 

बीकॉम की फीस कितनी होती है (how much b.com  course fees)

बीकॉम की फीस हर राज्य और जगह के अनुसार अलग-अलग होती है। भारत में बीकॉम की फीस 2.5 हजार से लेकर 50 हजार तक होती है। यह कॉलेज और यूनिवर्सिटी की fees पर निर्भर करती है। आपके शहर में यह फीस avarage 10 हजार हो सकती है।


B.com कैसे करें

  1. अगर आपको बीकॉम में एडमिशन लेना है। तो आपको सबसे पहले 12वीं में 45 परसेंट से ऊपर लाना होगा। और उसके साथ ही आपके पास 12वीं में कॉमर्स सब्जेक्ट होगा तो ज्यादा बेहतर होगा।
  2. अब सेकंड पार्ट की बारी आती है। तो बीकॉम के लिए आपको किसी कॉलेज को ढूंढना होगा। कॉलेज ढूंढने के बाद आपको कॉलेज में दाखिल प्रक्रिया करनी होगी। और दाखिल प्रक्रिया के साथ ही आपको सब्जेक्ट चुनना होगा। जिस सब्जेक्ट से आप बीकॉम  करना चाहते हैं।
  3.  बैचलर ऑफ कॉमर्स में एडमिशन लेने के बाद आप बी कॉम 3 साल में 6 सेमेस्टर पास करके बीकॉम पूरी कर सकते हैं। बीकॉम को करने के लिए यह प्रक्रिया ही होती है।


B.com All Subjects Name In Hindi बी.कॉम कोर्स में क्या पढ़ाया जाता है

      • इकोनॉमिक्स
      • कंप्यूटर एप्लीकेशन
      • मैथ्स
      • बिजनेस लो
      • बिजनेस स्टडी
      • अकाउंट्स
      • इनकम टैक्स
      • इंग्लिश
      • इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी 
      • बैंकिंग 

और बीकॉम में sub subject भी होते है । जो कि आपको सब्जेक्ट चुनने के अनुसार मिलेगा।


बीकॉम बाद जॉब jobs after B.com

बैचलर ऑफ कॉमर्स के बाद आप चार्टर्ड अकाउंटेंट की जॉब कर सकते है। हर एक कंपनी को एक पर्सनल चार्टर्ड अकाउंटेंट चाहिए होता है। और आप b.com के बाद किसी फाइनेंस कंपनी और इंसुरेंस कंपनी और बैंकिंग सेक्टर में भी जॉब आसानी से  कर सकते है। इसके अलावा आप बिजनेस रिलेटेड और जॉब भी कर सकते हैं जैसे कि‌ - 

    • Accountant
    • bank secter
    • financial services
    • insurance
    • financial advisor
    • self business 
    • Company Secretary
    • Financial Risk Manager
    • operation manager
    • Certified Management Accountant
    • tax @nd GST manager
    • etc.

B.com के लिए क्या योग्यता (eligibility) होनी चाहिये।

    1. हो सके तो 12वीं कक्षा कॉमर्स सब्जेक्ट में होनी चाहिए।
    2. बारहवीं कॉमर्स में 55% से ज्यादा होनी चाहिए।
    3. इसके अलावा बैचलर ऑफ कॉमर्स के लिए योग्यता और कुछ नहीं चाहिए।

 बीकॉम कोर्स करने के फायदे (What is the benefit of doing a B.Com course?)

  1. बीकॉम कोर्स में सबसे पहले तो स्टूडेंट में मैनेजमेंट और डिसिप्लिन आ जाता है
  2.  बीकॉम को करने के बाद में Accounts, finance, Banking, Law, statics, मार्केटिंग, की अच्छी खासी नॉलेज हो जाती है।
  3.  बीकॉम बाद पोस्ट ग्रेजुएशन में आसानी से एडमिशन मिल जाता है।
  4. बीकॉम बाद में जूनियर अकाउंटेंट की जॉब मिल जाती है।
  5. बीकॉम के बाद में जॉब की भरमार लग जाती है

क्या सिखा

हम सब ने इस पोस्ट में यह सिखा की  बीकॉम क्या होती है बीकॉम कैसे करें और B.com को करने के फायदे क्या होते हैं (what is the BCom, how do BCom, advantage of BCom)


अगर आपको इस पोस्ट से रिलेटेड कुछ भी पूछना है तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट जरूर करें


Natish kumawat
दोस्तों मेरा नाम Natish Kumawat है मैं Kumawat Tutor Website का founder हूं। हमारा इस ब्लॉग को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषा के लोगो को महत्वपूर्ण जानकारी प्रधान करवाना है। आपको यहाँ पर शिक्षा, तकनीकी, कंप्यूटर से जुडी हर तरह की जानकारी अपनी मातृ भाषा HINDI में मिलने वाली है।

एक टिप्पणी भेजें

Subscribe Our Newsletter